शेरावाली मैया को भजले लिरिक्सsheravali maiya ko bhajle

शेरावाली मैया को भजले तू उद्धार हो जाए
जो भी माँ के दर पे जाए बेड़ा पार हो जाए

शेरावाली मैया की महिमा निराली
वो भरती है झोली खाली
हरती है दुख मैया सब भक्तो का
जो बन के आये सवाली

माँ की ममता बड़ी ही निराली है
उनकी सूरत बड़ी भोली भाली है
किस्मत वाला है जिसको माँ से प्यार हो जाये
जो भी माँ के दर पे जाए बेड़ा पार हो जाए

शेर की सवारी मैया चुनड़ी है
लाल कहलाती है माँ जग जननी

भक्तों के दुख को दूर करे कहते है उसे दुख हरणी
जो भी माँ के शरण मे आते है मन चाही मुरादे वो पाते है

माँ की नजर हो जिसपे मालामाल हो जाए
जो भी माँ के दर पे जाए बेड़ा पार हो जाए

शेरावाली मैया को भजले तू उद्धार हो जाए
जो भी माँ के दर पे जाए बेड़ा पार हो जाए
जो भी माँ के दर पे जाए बेड़ा पार हो जाए

sheraavaalee maiya ko bhajale too uddhaar ho
jo bhee maan ke dar pe bera paar ho jaaye

sheraavaalee maiya kee mahima niraalee
vah bharatee hai jholee khaalee
haratee ne dukh maiya sab bhakto ka
jo ban ke aaye savaalee

maan kee mamata badee hee niraalee hai
unakee soorat badee bholee bhaalee hai
kismat vaala hai joko maan se pyaar ho jae
jo bhee maan ke dar pe beda paar ho jae

sher kee savaaree maiya chunaree hai
laal kahalaatee hai maan jag jananee

bhakton ke dukh ko door kare kahata hai use dukh haranee
jo bhee maan ke sharan me aate hai man chaahee muraade vo paate hai

maan kee drshti ho, chaahe jo bhee ho
jo bhee maan ke dar pe bera paar ho jaaye

sheraavaalee maiya ko bhajale too uddhaar ho
jo bhee maan ke dar pe beda paar ho jae
jo bhee maan ke dar pe beda paar ho jae

Leave a Comment