राम जैसा नगीना नही लिरिक्स ram jaisa nageena nhi

राम जैसा नगीना नही सारे जग की बजरियां में
नील मणि ही जडाऊ गी अपने मन की मुदरिया में

राम का नाम प्यारा लगे रसना पे बिठाऊ गी मैं
मैं तो मूरत बसाऊ गी नैनो की पुतरियां में
राम जैसा नगीना नही सारे जग की बजरियां में

है झूठे सभी रिश्ते और झूठे सभी नाते
दूजा रंग न चडाऊ गी अपनी शामल चदारियां पे
राम जैसा नगीना नही सारे जग की बजरियां में

जल्दी से यत्न करके राघव को रिझाना है,
कुछ दिन ही तो रहना है काया की कुतरियां में
राम जैसा नगीना नही सारे जग की बजरियां में

raam jaisa nageena nahee saare jag kee bajariyaan mein
neel mani hee jadaoo gee apane man kee mudariya mein

raam ka naam pyaara lage rasana pe bithaoo gee main
main to moorat basaoo gee naino kee putariyaan mein
raam jaisa nageena nahee saare jag kee bajariyaan mein

hai jhoothe sabhee rishte aur jhoothe sabhee naate
dooja rang na chadaoo gee apanee shaamal chadaariyaan pe
raam jaisa nageena nahee saare jag kee bajariyaan mein

jaldee se yatn karake raaghav ko rijhaana hai,
kuchh din hee to rahana hai kaaya kee kutariyaan mein
raam jaisa nageena nahee saare jag kee bajariyaan mein

Leave a Comment