राम छवि है कितनी पियारी लिरिक्स ram chavi hai kitni pyaari

राम छवि है कितनी पियारी
मोहित इनपर झनक दुलारी
प्यारे राम मेरे राम जी

सन्मुख खड़े है दशरथ लाला
सीता डाल रही वर माला माता जानकी हो गई राम की

सीता स्व्यंभर जब राम जी जीते,
दुखो से भरे पल सारे ही बीते,
लाये दशरथ जी बारात राजा झनक जी जोड़े हाथ
किया समान जी कन्या दान जी
राम छवि है कितनी पियारी

राजा जनक ने कैसे युक्ती लगाई,
आये पसंद उन्हें चारो ही भाई
इक ही मंडप इक ही द्वारा लागे विवाह का गजब नजारा
झूमे राम जी सीता राम जी

धाम अयोध्या में तो खुशिया है छाई
घर घर में दीप जले गूंजे शेहनाई
झूमे अवध के सब नर नारी दूल्हा बने है अवध बिहारी
प्यारे राम जी मेरे राम जी

raam chhavi hai kitanee piyaaree
mohit inapar jhanak dulaaree
pyaare raam mere raam jee

sanmukh khade hai dasharath laala
seeta daal rahee var maala maata jaanakee ho gaee raam kee

seeta svyambhar jab raam jee jeete,
dukho se bhare pal saare hee beete,
laaye dasharath jee baaraat raaja jhanak jee jode haath
kiya samaan jee kanya daan jee
raam chhavi hai kitanee piyaaree

raaja janak ne kaise yuktee lagaee,
aaye pasand unhen chaaro hee bhaee
ik hee mandap ik hee dvaara laage vivaah ka gajab najaara
jhoome raam jee seeta raam jee

dhaam ayodhya mein to khushiya hai chhaee
ghar ghar mein deep jale goonje shehanaee
jhoome avadh ke sab nar naaree doolha bane hai avadh bihaaree
pyaare raam jee mere raam jee

Leave a Comment