रघुनंद तुम को आना होगा लिरिक्सraghunand tum ko aana hoga

रघुनंद तुम को आना होगा
भगतो को दर्श दिखाना होगा
सीता माँ संग लक्ष्मण जी को लाना होगा,
रघुनंद तुम को आना होगा

स्वागत में आप के ये पलक बिछाई है
बड़े ही नसीबो से घडी प्रभु आई है
भगतो को मान बडाना होगा
भगतो को दर्श दिखाना होगा

उचे सिंगासन पे हम आप को बिठाए गे,
मीठे मीठे भजन हम आप को सुनाये गे,
सिर पर हाथ फिराना होगा
भगतो को दर्श दिखाना होगा

सोरव मधुकर संग दीप जलाए गे,
सरयू के जल से प्रभु चरण धुलायेगे
भगतो को गले से लगाना होगा
भगतो को दर्श दिखाना होगा

raghunand tum ko aana hoga
bhagato ko darsh dikhaana hoga
seeta maan sang lakshman jee ko laana hoga,
raghunand tum ko aana hoga

svaagat mein aap ke ye palak bichhaee hai
bade hee naseebo se ghadee prabhu aaee hai
bhagato ko maan badaana hoga
bhagato ko darsh dikhaana hoga

uche singaasan pe ham aap ko bithae ge,
meethe meethe bhajan ham aap ko sunaaye ge,
sir par haath phiraana hoga
bhagato ko darsh dikhaana hoga

sorav madhukar sang deep jalae ge,
sarayoo ke jal se prabhu charan dhulaayege
bhagato ko gale se lagaana hoga
bhagato ko darsh dikhaana hoga

Leave a Comment