ओ प्रभु जी कोनी सुख पायो लिरिक्सo prabhu ji koni sukh paayo

ओ प्रभु जी कोनी सुख पायो,
रामा थारी भक्ति में
औजी थारी भक्ति में रामा थारी भक्ति में

मित्र सुदामा मित्र तुम्हारे ,
मांग मांग अन्न खायो मेरे रामा
हरिचंद संग बानी राजा ,
वाने तो नीच घर नीर तो भरायो
रामा थारी भक्ति में…
ओ प्रभु जी कोनी सुख पायो,
रामा थारी भक्ति में
औजी थारी भक्ति में रामा थारी भक्ति में

संत रूप धर के प्रभु जी,
मोरध्वज द्वारे आया मेरे प्रभु जी
एक भूखा सिंह के खातिर,
औजी रतन कवर ने राजा रानी से चुरायो ,
रामा थारी भक्ति में
ओ प्रभु जी कोनी सुख पायो रामा थारी भक्ति में
औजी थारी भक्ति में रामा थारी भक्ति में

बावन रूप धर के प्रभु जी बलि के द्वारे आये
तीन पावंडा धरती नापी राजा बलि ने प्रभु जी ,
पाताल पठायो रामा थारी भक्ति में
ओ प्रभु जी कोनी सुख पायो,
रामा थारी भक्ति में
औजी थारी भक्ति में रामा थारी भक्ति में

तुलसी दास या सार रघुवर की,
हरस हरस गुण गायो मेरे रामा,
अपने भक्त को दुःख देवे प्रभु जी ,
ओ प्रभु जी कोनी सुख पायो,
रामा थारी भक्ति में औजी थारी भक्ति में रामा ,
थारी भक्ति में। ….

ओ प्रभु जी कोनी सुख पायो रामा थारी भक्ति में
औजी थारी भक्ति में रामा थारी भक्ति में

o prabhu jee konee sukh paayo,
raama thaaree bhakti mein
aujee thaaree bhakti mein raama thaaree bhakti mein

mitr sudaama mitr tumhaare,
maang maang ann khaayo mere raam
harichand sang baanee raaja,
vaane to neech ghar neer to bharaayo
raam thaaree bhakti mein…
o prabhu jee konee sukh paayo,
raama thaaree bhakti mein
aujee thaaree bhakti mein raama thaaree bhakti mein

sant roop dhar ke prabhu jee,
moradhvaj dvaare mere prabhu jee
ek bhookha sinh ke khaatir,
aujee ratan kavar ne raaja raanee se churao,
raama thaaree bhakti mein
o prabhu jee konee sukh paayo raama thaaree bhakti mein
aujee thaaree bhakti mein raama thaaree bhakti mein

baavan roop dhar ke prabhu jee bali ke dvaare aaye
teen paavanda dharatee naapee raaja bali ne prabhu jee,
paataal paathayo raama thaaree bhakti mein
o prabhu jee konee sukh paayo,
raama thaaree bhakti mein
aujee thaaree bhakti mein raama thaaree bhakti mein

tulasee daas ya saar raghuvar kee,
haras haras gun gaayo mere raam,
apane bhakt ko duhkh deve prabhu jee,
o prabhu jee konee sukh paayo,
raama thaaree bhakti mein aujee thaaree bhakti mein rama,
thaaree bhakti mein. ….

o prabhu jee konee sukh paayo raama thaaree bhakti mein
aujee thaaree bhakti mein raama thaaree bhakti mein

Leave a Comment