मैं तो लाइ हु मोदक भर थाल रे लिरिक्सmain to laai hu modal bhar thaal re

मैं तो लाइ हु मोदक भर थाल रे स्वीकार करो गणराज जी,
नमो नमो गणराज जी नमो नमो महाराज जी,

माथे तिलक सिंदूर विराजे गल मोतियन का हार है,
सब के संकट हरने वाले महिमा तेरी अपार है,
मैं तो लाइ हु मोदक भर थाल रे…..

तीन लोक के स्वामी हो तुम तुम्हारा पावन धाम है,
कहते है मात पिता की सेवा में ही आठो याम है,
मैं तो लाइ हु मोदक भर थाल रे….

लाल भाग के ओ गणराजा देवो के सरताज हो,
तुमरे जाप से आये न वादा पुराण करते काज हो,
मैं तो लाइ हु मोदक भर थाल रे……

निर्बल को बल निर्धन को धन देने वाले नाथ हो,
सिर पे तेरा हाथ रहे और हर पल तेरा साथ हो,
मैं तो लाइ हु मोदक भर थाल रे

main to lai hu modak bhar thaal re sveekaar karo ganaraaj jee,
namo namo ganaraaj jee namo namo mahaaraaj jee,

maathe tilak sindoor viraaje gal motiyan ka haar hai,
sab ke sankat harane vaale mahima teree apaar hai,
main to lai hu modak bhar thaal re…..

teen lok ke svaamee ho tum tumhaara paavan dhaam hai,
kahate hai maat pita kee seva mein hee aatho yaam hai,
main to lai hu modak bhar thaal re….

laal bhaag ke o ganaraaja devo ke sarataaj ho,
tumare jaap se aaye na vaada puraan karate kaaj ho,
main to lai hu modak bhar thaal re……

nirbal ko bal nirdhan ko dhan dene vaale naath ho,
sir pe tera haath rahe aur har pal tera saath ho,
main to lai hu modak bhar thaal re

Leave a Comment