Kusum chouhan ke Bhajan lyrics

मैया री मैं तो वृन्दावन चली जाऊंगी, 
पर भजन श्याम के गाऊँगी, 
मैया री मैं तो वृन्दावन चली जाऊँगी, 
पर भजन श्याम के गाऊँगी, 

अरी ना भावे मुझे महल दुमहले, 
ना चाहिए मुझे शाल दुशाले, 
मैया री मैं तो कुटिया में रह ल्यूंगी, 
पर भजन श्याम के गाऊँगी,
मैया री मैं तो वृन्दावन चली जाऊँगी, 
पर भजन Shyam के गाऊँगी, 

जमना जी से जल भर ल्याऊं, 
चौकी चन्दन की बनवाऊँ, 
श्याम का मळ मळ कमर मिलाऊँगी,
पर भजन श्याम के गाऊँगी,
मैया री मैं तो वृन्दावन चली जाऊँगी, 
पर भजन श्याम के गाऊँगी, प्यारी गौरी सी इक पालूँ गैयाँ, रोज बनाऊँ दूध और दहियाँ, श्याम को माखन को भोग लगाऊँगी,पर भजन श्याम के गाऊँगी,
मैया री मैं तो वृन्दावन चली जाऊँगी, 
पर भजन श्याम के गाऊँगी, 

पतली पतली पोउ फुलकिया, फेर बुला ल्यूं सारी सखियाँ, मैया री मैं तो पंखा झोल जीमाउंगी,पर भजन श्याम के गाऊँगी,
मैया री मैं तो वृन्दावन चली जाऊँगी, 
पर भजन श्याम के गाऊँगी, चुन चुन फूल कमल के ल्याऊँ, फिर कान्हां की सेज लगाऊँ, मैया री मैं तो धीरे धीरे चरण दबाऊँगी,पर भजन श्याम के गाऊँगी,
मैया री मैं तो वृन्दावन चली जाऊँगी, 
पर भजन श्याम के गाऊँगी,  घिस घिस चन्दन तिलक लगाऊँ, मन में श्याम की सूरत बसाऊँ, मैया री मैं तो भव सागर तर जाऊँगी,पर भजन श्याम के गाऊँगी,
मैया री मैं तो वृन्दावन चली जाऊँगी, 
पर भजन श्याम के गाऊँगी,  

Leave a Comment