कब से खड़ा मैं तेरे द्वार लिरिक्स kab se khda main tere dwar

ओ शेरोवाली माँ करो मेरा भव से बेडा पार कब से खड़ा मैं तेरे द्वार
मेरा हो जाए उधार दया की करो नजर इक बार
कब से खड़ा मैं तेरे द्वार,

तुम हो दयालु माँ कर दो दया मुझपर
मैं मांगता हु माँ चरणों में तेरे झुक कर
तेरी महिमा अप्रम पार भवानी शक्ति का अवतार
कब से खड़ा मैं तेरे द्वार,

उचे पहाड़ो पे डाले हो माँ डेरा,
सारे जगत पे माँ चलता हुकम तेरा
माँ बैठी सिंह सवार माँ तेरे हाथ हजार
कब से खड़ा मैं तेरे द्वार,

मैं हु अज्ञानी माँ तेरी महिमा क्या जानू
बचपन से हे माता मैं तुझको ही मानु
धोता चरण तेरे गिरी बेहती आंसुओ की धार
कब से खड़ा मैं तेरे द्वार,

o sherovaalee maan karo mera bhav se beda paar kab se khada main tere dvaar
mera ho jae udhaar daya kee karo najar ik baar
kab se khada main tere dvaar,

tum ho dayaalu maan kar do daya mujhapar
main maangata hu maan charanon mein tere jhuk kar
teree mahima apram paar bhavaanee shakti ka avataar
kab se khada main tere dvaar,

uche pahaado pe daale ho maan dera,
saare jagat pe maan chalata hukam tera
maan baithee sinh savaar maan tere haath hajaar
kab se khada main tere dvaar,

main hu agyaanee maan teree mahima kya jaanoo
bachapan se he maata main tujhako hee maanu
dhota charan tere giree behatee aansuo kee dhaar
kab se khada main tere dvaar,

Leave a Comment