जितनी चाबी भरी राम ने उतना चले खिलौना लिरिक्स jitni chabi bhari ram ne utna chale khilauna

जीवन मौत का खेल है पगले क्या रोना क्या धोना
जितनी चाबी भरी राम ने उतना चले खिलौना
रोते-रोते हंसना सीखो हंसते हंसते रोना

ऋषि मुनि क्या योगी ध्यानी और क्या पीर पैगंबर
खाली हाथ यहां से लौटे दारा और सिकंदर
साथ किसी के नहीं गया है यह चांदी और सोना
जितनी चाबी भरी राम ने उतना चले खिलौना
रोते रोते हंसना सीखो…………………………

जिस दिन टूटेगी तेरी सांसों की जंजीरे
काम नहीं आएगी तेरी धरी रहे जागीरे
मौत के आगे चला न जग में किसी का जादू टोना
जितनी चाबी भरी राम ने उतना चले खिलौना
रोते रोते हंसना सीखो….…………………………

कोठी बंगले और मकान तेरी ये धन दौलत
पल दो पल की तेरी इज्जत पल दो पल की शोहरत
आज जो पाया तूने जग में कल पड़ेगा खोना
जितनी चाबी भरी राम ने उतना चले खिलौना
रोते रोते हंसना सीखो………………………………..

जीवन मौत का खेल है पगली क्या रोना क्या धोना
जितनी चाबी भरी राम ने उतना चले खिलौना
रोते-रोते हंसना सीखो हंसते-हंसते रोना

jeevan mrtyu ka khel hai pagale kya rona kya dhona
mukhy chaabee ke roop mein raam ne khilauna le liya
rote-rote hansana seekho hansate hansate rona

rshi muni kya yogee dhyaanee aur kya peer paigambar
khaalee haath yahaan se laute daara aur sikandar
yah kisee ke paas nahin gaya yah chaandee aur sona hai
mukhy chaabee ke roop mein raam ne khilauna le liya
rote rote hansana seekho …………………………

jis din tootegee teree saanson kee janjeere
kaam nahin aayaagee teree dharee rahee jaageere
maut ke aage chala na jag mein kisee ka jaadoo tona
mukhy chaabee ke roop mein raam ne khilauna le liya
rote rote hansana seekho…. ………………………

kothee bangale aur makaan teree ye dhan daulat
pal do pal kee teree ijjat pal do pal kee shoharat
aaj jo paaya toone jag mein kal jaega khona
mukhy chaabee ke roop mein raam ne khilauna le liya
rote rote hansana seekho ……………………………

jeevan mrtyu ka khel hai pagalee kya rona kya dhona
mukhy chaabee ke roop mein raam ne khilauna le liya
rote-rote hansana seekho hansate-hansate rona

Leave a Comment