फूलों का झूलना मेरी मैया काphulo ka jhulna meri maiya

फूलो का झुलना मेरी मैया का,
माँ छोटे लेवे कुछ लम्बे लम्बे कुछ छोटे छोटे
फूलो का झुलना मेरी मैया का,

बड़े प्यार से भगत झुलावे बूढ़े बचे हाथ लगावे,
बूढ़े बचे हाथ लगावे माँ को देख खिल खिल जावे
ये झुला है सब की खुशियों का मैया का
फूलो का झुलना मेरी मैया का,

माँ जिस पटरी पर बैठी है वो दुःख दर्दो की पटरी है
अपने कर्मो की गठरी है दमन करे माँ दुःख दर्दो का
फूलो का झुलना मेरी मैया का,

ये डोरी माँ की ममता है इस में कुछ जादू होता है,
इस में कुछ जादू होता है यो पकड़े वो सुख पाता है
हल हमे मिले सपनो का फूलो का झुलना मेरी मैया का,

phoolo ka jhulana meree maiya ka,
maan chhote leve kuchh lambe lambe kuchh chhote chhote
phoolo ka jhulana meree maiya ka,

bade pyaar se bhagat jhulaave boodhe bache haath lagaave,
boodhe bache haath lagaave maan ko dekh khil khil jaave
ye jhula hai sab kee khushiyon ka maiya ka
phoolo ka jhulana meree maiya ka,

maan jis pataree par baithee hai vah duhkh dardo kee pataree hai
apane karmo kee gatharee hai daman kare maan duhkh dardo ka
phoolo ka jhulana meree maiya ka,

ye doree maan kee mamata hai isamen kuchh jaadoo hota hai,
is mein kuchh jaadoo hota hai yo pakade vo sukh paata hai
hal hame mile sapano ka phoolo ka jhulana meree maiya ka,

Leave a Comment