टेकडी जाना है उन को मनाना हैtekdi jana hai un ko manana hai

टेकडी जाना है उन को मनाना है करना है दीदार,
पीपल के निचे बैठे है माँ गोरा के लाल,

मोदक हलवा रोज चढ़ाये भगत करे जैकार हो देवा,
पीपल निचे वास तुम्हारा संग है भेरो नाथ,
ज्योत जगाना है भोग लगाना है करना है दीदार,
पीपल के निचे बैठे है माँ गोरा के लाल,

साग पुर के होश उड़ा जा महिमा अपरपार
दूर दूर से भक्त है आते मेले लगे है अपार,
पूरी होती है सब की मुराद बड़ा प्यारा है दरबार,
पीपल के निचे बैठे है माँ गोरा के लाल,

देवो के है देव हमारे बाबा भोले नाथ,
सब देवो में पहले पूजे जाते है गणराज,
रिद्धि सीधी के दाता हो तुम महिमा तोरी अपार,
पीपल के निचे बैठे है माँ गोरा के लाल,

tekadee jaana hai un ko manaana hai karana hai deedaar,
peepal ke niche baithe hai maan gora ke laal,

modak halava roj chadhaaye bhagat kare jaikaar ho deva,
peepal niche vaas tumhaara sang hai bhero naath,
jyot jagaana hai bhog lagaana hai karana hai deedaar,
peepal ke niche baithe hai maan gora ke laal,

saag pur ke hosh uda ja mahima aparapaar
door door se bhakt hai aate mele lage hai apaar,
pooree hotee hai sab kee muraad bada pyaara hai darabaar,
peepal ke niche baithe hai maan gora ke laal,

devo ke hai dev hamaare baaba bhole naath,
sab devo mein pahale pooje jaate hai ganaraaj,
riddhi seedhee ke daata ho tum mahima toree apaar,
peepal ke niche baithe hai maan gora ke laal,

Leave a Comment