गणपति तेरे चरणों कीganpati tere charno ki

गणपति तेरे चरणों की यदि धुल जो मिल जाये
सच कहता हु मेरी किस्मत ही बदल जाये

ये मन बड़ा चंचल है कैसे तेरे भजन करू,
जितना इसे समझाऊं, उतना ही मचल जाए

नजरो से गिराना ना, चाहे जो भी सजा देना
नजरो से जो घिर जाए, मुश्किल है संभल पाए

गणपति इस जीवन की बस एक तम्मना है
तुम सामने हो मेरे, मेरा दम ही निकल जाए

ganapati tere charanon kee yadi dhul jo mil jaaye
sach kahata hu meree kismat hee badal jaaye

ye man bada chanchal hai kaise tere bhajan karoo,
jitana ise samajhaoon, utana hee machal jae

najaro se giraana na, chaahe jo bhee saja dena
najaro se jo ghir jae, mushkil hai sambhal pae

ganapati is jeevan kee bas ek tammana hai
tum saamane ho mere, mera dam hee nikal jae

Leave a Comment